खूबसूरत औरत व जवान लड़का

एक खूबसूरत औरत एक नौजवान लड़का
वो औरत रोज़ उस नौजवान को देखती लेकिन वह बिना उसकी तरफ देखे सर झुकाकर उसकी गली से गुज़र जाता देखने में वह किसी मदरसे का तालिब इल्म लगता था, लेकिन इतना खूबसूरत था कि वह देखते ही उसे अपना दिल दे बैठी, और अब चाहती थी कि वह किसी तरह उस पर नज़र डाले, लेकिन वह अपनी मस्ती में मगन सर झुकाए कुछ पढ़ता हुआ रोज़ एक वक्त पर वहाँ से गुज़रता और कभी आंख उठाकर भी न देखता उस औरत को, अब ज़िद सी हो गई थी वह हैरान थी कि कोई ऐसा शख्स भी हो सकता है? जो उसकी तरफ न देखे, और उसे ऐसा सोचने का हक भी था वह अपने इलाके की सबसे अमीर और खूबसूरत औरत थी, खूबसूरत इतनी कि जब वो बाहर निकलती तो लोग उसे देखने पर मजबूर हो जाते हैं, उसे हैरत थीं कि जिसकी खूबसूरती को देखने के लिए लोग तरसते हैं, वह खुद किसी को पसंद करे और वो मायल न हो, उसकी ओर देखना गवारा न करे, अपनी अना की हार और खूबसूरती की तौहीन पर वो पागल हो गई, और कोई ऐसा मंसूबा सोचने लगी जिससे वो उस शख्स को हासिल कर सके, और उसका घमंड तोड़ सके..!
आखिरकार शैतान ने उसे एक ऐसा तरीका सुझा दिया जिसमें फंसकर वो नौजवान उस की बात माने बगैर रह ही नहीं सकता था, अगले दिन जब वह नौजवान इस सड़क से गुजर रहा था तो एक औरत उसके पास आई और कहने लगी बेटा! मालकिन बुला रही है, शख्स ने कहा अम्मा जी अपकी मालकिन को मुझसे क्या काम है? उसने कहा बेटा उसने तुमसे कोई मसला पूछना है वह मजबूर है खुद बाहर नहीं आ सकती। शख्स उस औरत के साथ चला गया उसके गुमान में भी नहीं था कि जो औरत उसे बुला रही है उसका मंसूबा क्या है, वो क्या चाहती है वो तो अपनी सादा दिली की वजह से उसकी मदद करने के लिए उसके घर आ गया, उसके मन में था कि शायद कोई बूढ़ी औरत जो अपनी किसी माज़ूरी की वजह से बाहर आने में कासिर है! नौकरानी ने उसे एक कमरे में बिठाया और इंतजार करने के लिए कह कर चली गई, थोड़ी देर बाद कमरे में वही औरत दाखिल हुई नौजवान ने अपनी नज़रें झुका ली क्योंकि अंदर आने वाली औरत बहुत खूबसूरत थी, नौजवान ने पूछा! जी बीबी आपको कौन सा मसला पूछना है? औरत के चेहरे पर एक शातिर मुस्कान आ गई उसने अपने दिल का हाल खोलकर रख दिया और कहा कि मेरी सबसे बड़ी अार्ज़ू है कि मैं एक बार तुम्हे हासिल कर लूं। नौजवान ये बात सुनकर कांप गया और कहने लगा अल्लाह की बन्दी अल्लाह से डरो क्यों गुनाह की तरफ मायल हो रही हो?
उसने औरत को बहुत समझाया लेकिन औरत पर तो शैतान सवार था उसने कहा कि या तो आप मेरी अार्ज़ू पूरी करोगे या फिर मै शोर मचाउंगी कि आप ज़बरदस्ती मेरे घर में दाखिल हुए और मेरी इज़्ज़त पर हमला किया नौजवान ये बात सुनकर बहुत परेशान हुआ, उसे अपनी इज़्ज़त किसी भी तरह महफूज़ नज़र नहीं आ रही थी, उसकी बात मानता तो गुनाह होता न मानता तो लोगों की नज़र में बुरा बनता। वो इलाका जहां लोग उसकी शराफत की मिसालें दिया करते थे, वहाँ उस पर इस तरह का इलज़ाम लग जाए यह उसे गवारा नहीं था, वह अजीब मुसीबत में फंस गया था, दिल ही दिल में वह अपने अल्लाह की तरफ मुतवज्जे हुआ और अल्लाह से मदद चाही तो उसके ज़हन में एक तरकीब आ गयी उसने औरत से कहा कि ठीक है मैं तुम्हारी ख्वाहिश पूरी करने के लिए तैयार हूँ लेकिन पहले मुझे बैतुल खला जाने की हाजत है, औरत ने उसे बैतुल खला बता दिया नौजवान ने अंदर जाकर ढेर सारी गंदगी अपने शरीर पर मल ली और बाहर आ गया, औरत उसे देखते ही चिल्ला उठी ये तुमने क्या किया ज़ालिम, मुझ जैसी तबियत वाली के सामने इतनी गंदी हालत में आ गए, दफा हो जाओ, निकलो मेरे घर से, नौजवान तुरंत "उसके घर से निकल गया और करीब ही एक नहर पर अपने आप को और अपने कपड़ों को अच्छी तरह साफ किया और अल्लाह का शुक्र अदा करता हुआ वापस मदरसे चला गया..!!
नमाज के बाद जब वो सबक मे बैठा तो थोड़ी देर बाद उस्ताद ने कहा कि आज तो बहुत प्यारी खुशबू आ रही है, किसने खुशबू लगाई है? वह नौजवान समझ गया कि उसके जिस्म से बदबू गई नहीं और उस्ताद जी तंज़ कर रहे हैं, वो अपने आप में सिमट गया और उसकी आंखों में आंसू आ गए, थोड़ी देर बाद उस्ताद जी ने फिर पूछा कि यह खुशबू किसने लगाई है लेकिन वह चुप रहा आखिर कार उस्ताद ने सबको एक करके बुलाया और खुशबू सूंघने लगे, नौजवान की बारी आई तो वह भी सर झुका कर उस्ताद के सामने खड़ा हो गया, उस्ताद ने उसके कपड़ों को सूंघा तो वो खुशबू उसके कपड़ों से आ रही थी, उस्ताद ने कहा कि आप बता क्यों नहीं रहे थे कि यह खुशबू आपने लगाई है, नौजवान रो पड़ा और कहने लगा उस्ताद! जी अब और शर्मिन्दा ना करें मुझे पता है कि मेरे कपड़ों से बदबू आ रही है, लेकिन मैं मजबूर था और उसने पूरा वाकिया उस्ताद को सुनाया उस्ताद ने कहा कि मैं तुम्हारा मजाक नहीं उड़ा रहा ख़ुदा की क़सम तुम्हारे कपड़ों से वाकई ही ऐसी खुशबू आ रही है जो मैने आज से पहले कभी नहीं सूंघा, और बेशक "यह अल्लाह की तरफ से है कि आप अपने आप को गुनाह से बचाने के लिए खुद को गंदगी लगाना पसंद किया लेकिन अल्लाह ने गंदगी को एक ऐसी खुशबू में बदल दिया जो कि इस दुनिया की नहीं लगती, कहते हैं कि नौजवान के उन कपड़ों से हमेशा ही वो खुशबू आती रही।

Popular posts from this blog

रोहिंगय मुसलमानो की मदद के लिए तुर्क़ी ने किया बर्मा पर हमला। पढ़े पूरी खबर

Solar Panel Price For Home Use | Solar System Price For Home

बड़ी खबर: योगी ने लगाई उत्तर प्रदेश में इन जानवर की कुरबानी पर रोक। पढ़े पूरी खबर।

कट्टर संगठन तालिबान व अलक़ायदा बर्मा पर हमला करने को तैयार। पढ़े पूरी खबर

मौलाना मदनी ने दी योगी को चेतावनी कुरबानी में रुकावट बनने की कोशिश मत कर। पढ़े पूरा ब्यान

अलका ने कहा छेड़छाड़ करने वालो का लिंग काटो तो शाज़िया उतरी लिंग के बचाव में। पढ़े पूरी खबर

हिन्दू संगठनों ने पोस्टर लगाकर दी मुसलमानों को बकरा ईद ना मनाने की धमकी। अगर मनाई तो पढ़े पूरी खबर

मोदी के प्रधानमंत्री बनने से हो रहा है मुसलमानों का कत्ले आम-- अमेरिका। पढ़े पूरी खबर

30 sec love song video download whatsapp status