मुस्लिम महिलाओं के साथ गैंग रेप। जांच में रेप की पुष्टि नहीं। पढ़िए आखिर क्या है हक़ीक़त।


नई दिल्ली ।जेवर सामूहक दुष्कर्म कांड में रोज नए बयान और मोड़ सामने आ रहे हैं। एक तरफ जहां प्राथमिक जांच में इस बात की पुष्टि हो चुकी है कि वारदात की रात महिलाओं के साथ दुष्कर्म नहीं हुआ तो वहीं अब एक बार फिर मामले में नया मोड़ आ गया है।

पीड़ित महिलाओं के साथ सामूहिक दुष्कर्म होने की बात को सीएमओ ने रिपोर्ट के आधार पर गलत बताया था, लेकिन पीड़ित महिलाओं का कहना है कि बदमाशों ने उनके साथ दुष्कर्म किया था और वो इस संबंध में मजिस्ट्रेट के सामने बयान भी देंगी।

जेवर कांड की पीड़ित महिलाओं की मेडिकल जांच के बाद शुक्रवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने खुलासा किया था कि जेवर में महिलाओं के साथ दुष्कर्म की पुष्टि नहीं हुई है। हालांकि महिलाओं के कपड़े FSL जांच के लिए भेज दिए गए हैं। सीएमओ के मुताबिक तीन हफ्ते में FSL रिपोर्ट आने के बाद मुकम्मल तौर पर पता चल सकेगा कि महिलाओं से सामूहिक दुष्कर्म हुआ था या नहीं।

सीएमओ के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए पीड़ित महिलाओं ने शनिवार को बड़ा बयान दिया। उन्होंने बताया कि उनके साथ बदमाशों ने दुष्कर्म किया था। वो इस संबंध में धारा 164 के तहत मजिस्ट्रेट के सामने बयान देंगी। महिलाओं का कहना है कि दुष्कर्म का विरोध करने पर ही बदमाशों ने परिवार के मुखिया को गोली मारी थी। अब उन्हें इंसाफ चाहिए।

पुलिस ने की प्रेस कॉन्फ्रेंस, नहीं हुआ रेप

शुक्रवार को पुलिस अधिकारियों की तरफ से की गई प्रेस कॉन्फ्रेंस में एसएसपी लव कुमार ने कहा कि प्रारंभिक जांच में यह सामने आया है कि महिलाओं के साथ दुष्कर्म नहीं हुआ है। जांच के लिए अन्य चीजें लखनऊ भेजी गई हैं, जिसकी रिपोर्ट 15 दिनों में आएगी। एसएसपी ने कहा प्राथमिक जांच में पाया गया कि पीड़ितों के साथ किसी तरह की कोई सेक्सुअल असाल्ट नहीं हुआ है पर हम एक ओर मेडिकल रिपोट का इंतजार कर रहे हैं जिससे साफ हो पाएगा कि महिलाओं के साथ रेप किया गया है या नहीं।

प्रेस वार्ता में पुलिस अधिकारी ने बताया कि फिलहाल जांच में सामने आया है कि प्राइवेट पार्ट में ना तो किसी तरह की कोई इंजरी मिली है और ना ही किसी तरह का कोई स्पर्म पर अगली जांच में ही साफ हो पाएगा कि रेप हुआ है या नहीं।

दर्ज होंगे महिलाओं के बयान

शनिवार को मजिस्ट्रेट के समक्ष पीड़ित महिलाओं के बयान दर्ज किए जाएंगे। बता दें कि जेवर मामले यूपी पुलिस अभी तक आरोपियों की तलाश में जुटी है। यूपी पुलिस की मदद के लिए एसटीएफ की एक टीम को भी लगाया गया है। इस बीच महिला आयोग और गृह मंत्रालय की टीम भी जेवर पहुंची और पीड़त के परिजनों से बात की।

Popular posts from this blog

बॉलीवुड मॉडल पार्वती माहिया ने क्यों कबूल किया इस्लाम। पढ़िए और शेयर कीजिये।

रोहिंगय मुसलमानो की मदद के लिए तुर्क़ी ने किया बर्मा पर हमला। पढ़े पूरी खबर

बड़ी खबर: योगी ने लगाई उत्तर प्रदेश में इन जानवर की कुरबानी पर रोक। पढ़े पूरी खबर।

मौलाना मदनी ने दी योगी को चेतावनी कुरबानी में रुकावट बनने की कोशिश मत कर। पढ़े पूरा ब्यान

कट्टर संगठन तालिबान व अलक़ायदा बर्मा पर हमला करने को तैयार। पढ़े पूरी खबर

अलका ने कहा छेड़छाड़ करने वालो का लिंग काटो तो शाज़िया उतरी लिंग के बचाव में। पढ़े पूरी खबर

मोदी के प्रधानमंत्री बनने से हो रहा है मुसलमानों का कत्ले आम-- अमेरिका। पढ़े पूरी खबर

हिन्दू संगठनों ने पोस्टर लगाकर दी मुसलमानों को बकरा ईद ना मनाने की धमकी। अगर मनाई तो पढ़े पूरी खबर

मुस्लिम लड़की को हिन्दू बनाने वाले हिन्दू युवक ने अब खुद कबूल किया इस्लाम। जानिए क्यों। शेयर करे