रमजान में ये चीज़े बिलकुल ना खाएँ। पढ़े और शेयर करे।

- पकौड़ी बनाना : यह इस्लाम मे हलाल है लेकिन रमज़ान में लगता है कि बिना पकौड़ी अफ्तार नही किया जा सकता। यह रोज़े के बायोलोजिकल फायदे को खत्म करता है। जब आप दिन भर कुछ नही खाते और फिर आप अचानक पकौड़े खाजाते है तो इसका तेल और बेसन आप मे कई बीमारियां ला सकता है। आपका वज़न बढ़ना, बदहजमी होना, पेट निकलना , cholestrol का बढ़ना आम है। इसलिए मेरी सलाह है पकौड़ी कम खाये न बनाये तो बेहतर है।
मीठा शर्बत : हमे दिन में 10 टी स्पून चीनी की ज़रूरत है। वैसे तो रिफाइन चीनी ही एक बुरी चीज हैं उसकी जगह खांड या गुड़ फ़ायदेमंद होता है लेकिन शहरो में चीनी मिलती है तो रमज़ान में 12 घण्टे जब हम कुछ नही खाते तो हमारे ग्लूकोस का स्तर घट जाता है ऐसे में अचानक भारी मात्रा में चीनी आने से हमारे स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ सकता है इसलिए मीठा कम ही ले।
अफ्तार करते ही पानी पीना : इस्लाम, विज्ञान और आयुर्वेद तीनो ने खाना खाते ही पानी पीने को मना किया है। यदि हम 12 घण्टे कुछ नही खाते और फिर अचानक से ढेर सारा तला हुआ खाकर पानी पीएंगे तो हमे बुरे स्वस्थ को झेलना पड़ सकता है इसलिए अफ्तार में खजूर और पानी का सेवन करके फिर नमाज़ पढ़कर फिर इत्मीनान से पौष्टिक खाना ले। पानी बाद में पिये
अफ्तार के बाद फौरन चाय : वैसे तो खाने के बाद ही चाय नही पीनी चाहिए लेकिन जब हम अफ्तार करते है तो काफी सारा असंतुलित खाना खा लेते है जिसके बाद हम चाय पीते है उससे हमारे शरीर को लगने वाले मिनरल्स सख्त हो जाते है। चाय को खाने के बाद पीने से सभी ने माना किया है।
अफ्तार के बाद सिगरेट : यू तो रमज़ान है ही इसलिए कि अपनी बुरी चाहतों पर काबू पाया जाए ऐसे में अफ्तार करते ही सिग्रेरट् पीना हमारे रोज़े के इस मकसद को ही ध्वस्त कर देता है। खानें के बाद स्मोकिंग 10 बार ज़्यादा खतरनाक है तो अगर आपने 12 घण्टे सिगरेट नही पी तो 12 घन्टे और न पीकर मात्र 21 दिनों में इस आदत से पीछा छुडा सकते है।
अफ्तार तरावीह फिर खाना : यह भी देखा गया है कि हम फास्टिंग को फीस्टिंग में बदल देते है यानी तरावीह में भी खूब खाजाते है जो असंतुलित होता है फिर तरावीह के बाद पुनः खाना खाते है और फिर मात्र 6 से 7 घण्टे बाद सेहरी में फिर खाजाते है। इस आदत को भी बदलना चाहिए क्योकि 24 घण्टे में 12 से 13 घण्टे कुछ न खाना और फिर अगले 11 से 12 घण्टे 3 से 4 बार खाना हमारे पाचनतंत्र पर बुरा असर डालता है।
यह सभी फिरको के लिए है आपका और मेरा रमज़ान महीना इसके ऑब्जेक्टिव को प्राप्त करने वाला हो
अमीन
लेखक: डॉक्टर अब्दुल्लाह

Popular posts from this blog

बॉलीवुड मॉडल पार्वती माहिया ने क्यों कबूल किया इस्लाम। पढ़िए और शेयर कीजिये।

रोहिंगय मुसलमानो की मदद के लिए तुर्क़ी ने किया बर्मा पर हमला। पढ़े पूरी खबर

बड़ी खबर: योगी ने लगाई उत्तर प्रदेश में इन जानवर की कुरबानी पर रोक। पढ़े पूरी खबर।

मौलाना मदनी ने दी योगी को चेतावनी कुरबानी में रुकावट बनने की कोशिश मत कर। पढ़े पूरा ब्यान

कट्टर संगठन तालिबान व अलक़ायदा बर्मा पर हमला करने को तैयार। पढ़े पूरी खबर

अलका ने कहा छेड़छाड़ करने वालो का लिंग काटो तो शाज़िया उतरी लिंग के बचाव में। पढ़े पूरी खबर

मोदी के प्रधानमंत्री बनने से हो रहा है मुसलमानों का कत्ले आम-- अमेरिका। पढ़े पूरी खबर

हिन्दू संगठनों ने पोस्टर लगाकर दी मुसलमानों को बकरा ईद ना मनाने की धमकी। अगर मनाई तो पढ़े पूरी खबर

मुस्लिम लड़की को हिन्दू बनाने वाले हिन्दू युवक ने अब खुद कबूल किया इस्लाम। जानिए क्यों। शेयर करे