बड़ी खबर:दारुल उलूम ने जारी किया फ़तवा। हिन्दू काफिर नही हैं। पढ़े पूरा फ़तवा



दुनिया के इस्लामी शिक्षा के सबसे बड़े केन्द्र दारूल उलूम देवबंद के हदीस सीनियर उस्ताद एवं जमीयत-उलेमा-ए-हिन्द के राष्ट्रीय अध्यक्ष मौलाना अरशद मदनी ने बुधवार को कहा कि हिन्दू काफिर नहीं हैं। मौलाना मदनी ने दारूल उलूम परिसर में कहा कि काफिर अरबी का लफ्ज है, जो अरब में चलता है। हिन्दुस्तान में हिन्दू और मुसलमान बोला जाता है। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव नजदीक आते देख कुछ फिरकापरस्त ताकतें समाज को बांटने की साजिश में लग गई हैं। लेकिन हम किसी को इसकी इजाजत नहीं देंगे। मौलाना मदनी प्रख्यात स्वतंत्रता सेनानी मौलाना हुसैन अहमद मदनी के पुत्र हैं। विश्व हिन्दू परिषद की हिन्दुस्तान को दारूल (अमन-शांति का देश) घोषित करने संबंधी फतवा देने की मांग पर वयोवृद्ध इस्लामिक विद्धान ने कहा कि जब अंग्रेजों ने हिन्दुस्तान की हूकूमत खत्म करके यहां ब्रिटिश राज कायम किया था तब सन 1803 मंे दिल्ली के मौलाना शाह अब्दुल अजीज ने हिन्दुस्तान को दारूल हरब घोषित करने का फतवा जारी करते हुए अंग्रेजी हूकूमत के खात्मे के लिए मुसलमानों से जेहाद करने को कहा था। उन्होंने कहा कि इसके बाद 1में देश के आजाद होते ही भारत दारूल अमन बन गया। अब इस बारे में फतवा देने की कोई जरूरत नहीं है। दारूल उलूम के मोहतमिम मौलाना मरगुबूर्रहमान ने भी स्पष्ट किया कि भारत दारूल अमन है। उन्होंने कहा कि देश में मुसलमान शांति और भाईचारे के साथ बड़े सुकून से हैं।

Popular posts from this blog

बॉलीवुड मॉडल पार्वती माहिया ने क्यों कबूल किया इस्लाम। पढ़िए और शेयर कीजिये।

रोहिंगय मुसलमानो की मदद के लिए तुर्क़ी ने किया बर्मा पर हमला। पढ़े पूरी खबर

बड़ी खबर: योगी ने लगाई उत्तर प्रदेश में इन जानवर की कुरबानी पर रोक। पढ़े पूरी खबर।

मौलाना मदनी ने दी योगी को चेतावनी कुरबानी में रुकावट बनने की कोशिश मत कर। पढ़े पूरा ब्यान

कट्टर संगठन तालिबान व अलक़ायदा बर्मा पर हमला करने को तैयार। पढ़े पूरी खबर

अलका ने कहा छेड़छाड़ करने वालो का लिंग काटो तो शाज़िया उतरी लिंग के बचाव में। पढ़े पूरी खबर

मोदी के प्रधानमंत्री बनने से हो रहा है मुसलमानों का कत्ले आम-- अमेरिका। पढ़े पूरी खबर

हिन्दू संगठनों ने पोस्टर लगाकर दी मुसलमानों को बकरा ईद ना मनाने की धमकी। अगर मनाई तो पढ़े पूरी खबर

मुस्लिम लड़की को हिन्दू बनाने वाले हिन्दू युवक ने अब खुद कबूल किया इस्लाम। जानिए क्यों। शेयर करे